HomeFarmingअक्टूबर से नवम्बर तक करें गेहूं की इन उन्नत किस्मों की बुवाई,...

अक्टूबर से नवम्बर तक करें गेहूं की इन उन्नत किस्मों की बुवाई, गेहूं खेती में पैदावार बढ़ाने की टिप्स

गेहूं और सरसों की फसल की बुवाई का सीजन शुरू हो रहा है। प्रदेश में व्यापक स्तर पर किसान दोनों फसलों की बुवाई करते हैं। गेहूं की उन्नत किस्मों एचडी 2967, डब्ल्यूएच 1105 आदि किस्मों की 20 अक्टूबर से लेकर पूरे नवंबर माह में बुवाई कर किसान किसान आमदनी बढ़ा सकते हैं। बिजाई में देरी पर पैदावार में कमी हो सकती है। एचएयू के वैज्ञानिक और कृषि विशेषज्ञ प्रदेश के किसानों को अधिक पैदावार के संबंध में टिप्स दे रहे हैं। एचएयू के कुलपति प्रोफेसर बीआर कम्बोज का कहना है कि कृषि विज्ञान केंद्रों के वैज्ञानिकों के माध्यम से भी किसानों को जानकारी दी जा रही है। इसके अलावा 30 अक्टूबर तक सरसों की उन्नत किस्मों की बुवाई कर अधिक पैदावार पा सकते हैं।

गेहूं बीज की मात्रा

40 किलोग्राम प्रति एकड़ के हिसाब से बीज प्रयोग किया जा सकता है। खाद एवं उर्वरक सिंचित क्षेत्रों में 35 किलोग्राम यूरिया, 75 किलोग्राम सिंगल सुपर फॉस्फेट व 14 किलोग्राम म्यूरेट ऑफ पोटाश बिजाई के समय डालें।…..

रोग एवं कीट प्रबंधन

पीला रतुआ की समस्या पर प्रॉपिकोनाजोल दवाई का घोल बनाकर छिड़काव करें। एक एकड़ में 200 एमएल दवा 200 लीटर पानी में मिलाकर छिड़काव करें।

गेहूं की उन्नत किस्में…

भूमि परीक्षण अधिकारी डॉ. अनुराग सांगवान के अनुसार, एचडी 2967, डब्ल्यूएच 1105, डब्ल्यूएच 283, डब्ल्यूएच 147, डब्लूएच1142, डब्लूएच 711, आरजे 3765, डीबीडल्यू 222, डीबीडब्ल्यू 303, एचडी 3086, एचडी 2851 उन्नत किस्में हैं।

यह भी पढ़ें – सरकार ने जारी किया 2023-24 के लिए गेहूं चना जौ सरसों बाजरा मसूर का रबी समर्थन मूल्य MSP

गेहूं में सिंचाई

• गेहूं की फसल में 3 बार सिंचाई करना जरूरी होता है।

• 21 दिन के बाद जब जड़े निकलती है।

• 65 दिन बाद गांठ बनती है।

•85 दिन बाद जब दाना बनता है।

हैपी सीडर के साथ बिजाई उत्तम, पैदावार अच्छी होगी

जिन किसानों ने धान की फसल समेट ली है, वह अब गेहूं की बिजाई की ओर बढ़ रहे हैं। कृषि विभाग के अधिकारियों की मानें तो नवंबर में किसान गेहूं की बिजाई करेंगे, तो पैदावार अच्छी होगी। खंड कृषि अधिकारी डॉ. राकेश अग्रवाल ने बताया कि किसान हैप्पी सीडर के साथ गेहूं की बिजाई करें। हैपी सीडर के साथ गेहूं की बिजाई करना उत्तम विधि है। इससे गेहूं में पानी की मात्रा तो कम लगती ही है, खाद का सही तौर पर इस्तेमाल होता है।

कृषि विज्ञान केंद्र दामला के कॉर्डिनेटर डॉ. संदीप रावल का कहना है कि किसान गेहूं की अन्य किस्म डब्ल्यूएच 1270, डब्ल्यूबीडब्ल्यू 187, एचडी 3086, डब्ल्यूएच 1105, डीडीडब्ल्यू 222, पीबीडब्ल्यू 725 व डीबीडब्ल्यू 303 की बिजाई करें इन किस्मों में पीला रतुआ आने की संभावनाएं न के बराबर है। वहीं उत्पादन भी अच्छा है। किसानों को सलाह है कि वह इस बार एचडी 2967 किस्म की बिजाई न करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

close