Homeकिसान न्यूज़गेहूं उपार्जन के पंजीयन का बदल गया नियम ! उपार्जन प्रक्रिया व...

गेहूं उपार्जन के पंजीयन का बदल गया नियम ! उपार्जन प्रक्रिया व भुगतान में भी किया गया संसोधन, इस तारीख से होंगे रजिस्ट्रेशन

mp e uparjan रवि विपरण वर्ष 2022 – 23 में समर्थन मूल्य पर गेहूं उपार्जन हेतुं किसान पंजीयन एवं उपार्जन प्रक्रिया में संसोधन किया गया है। खाद्य आपूर्ति मंत्रालय का कहना है की किसानो की सुविधा के लिए यह बदलाव किये गए है। जिसमे भुगतान की प्रक्रिया को भी बदल दिया जायगा। किसान भाई इस जानकारी को ध्यान पूर्वक पढ़ें गेहूं उपार्जन के लिए उपार्जन केंद्र पर फसल लाने के लिए तारीख का निर्धारण भी किसान के द्वारा किया जायगा।

निम्न विन्दुओ पर उपार्जन हेतु संसोधन किया गया है

1 .पंजीयन व्यवस्था में संसोधन

निःशुल्क व्यवस्था शुल्क व्यवस्था 50 रु.
स्वंम के मोबाइल से mp online kiosk पर
ग्राम पंचायत कार्यालय कॉमन सर्विस सेंटर पर
पूर्व की भांति सहकारी समिति लोक सेवा केंद्र पर

2. उपार्जन प्रक्रिया में संशोधन

उपार्जन प्रक्रिया में संशोधन 2.1 पूर्व प्रक्रिया में किसान को फसल बेचने के लिए SMS प्राप्त होता है । SMS से प्राप्त तिथि पर किसान उपार्जन केन्द्र पर जाकर अपनी फसल बेच सकता है । SMS प्राप्ति की प्रक्रिया में कई बार किसानों को असुविधा का सामना करना पड़ता है । परिवर्तित व्यवस्था में उपार्जन केन्द्र पर जाकर फसल बेचने के लिए SMS प्राप्ति की अनिवार्यता को समाप्त कर दिया गया है ।

2.2 परिवर्तित व्यवस्था में फसल बेचने के लिए किसान , निर्धारित पोर्टल से नजदीक के उपार्जन केन्द्र , तिथि और टाईम स्लॉट का स्वयं चयन कर सकेंगे । उपार्जन केन्द्र , तिथि और टाईम स्लॉट का चयन नियत तिथि के पूर्व करना अनिवार्य होगा । सामान्य तौर पर उपार्जन प्रारंभ होने की तिथि से एक सप्ताह पूर्व तक उपार्जन केन्द्र , तिथि और टाईम स्लॉट का चयन किया जा सकेगा ।

3. उपार्जित फसल के भुगतान की व्यवस्था में संशोधन

उपार्जित फसल के भुगतान की व्यवस्था में संशोधन पूर्व प्रक्रिया में किसान को उपार्जित फसल का भुगतान उनके द्वारा पंजीयन के समय प्रविष्ट किये गये बैंक खाते में प्राप्त होता है । यह देखने में आया है कि बैंक खाता नंबर और IFSC कोड की प्रविष्टि में त्रुटि के कारण कई किसानों के भुगतान असफल होते रहे है और ऐसी स्थिति में भुगतान प्राप्त करने के लिए किसानों को कई बार लंबा इंतजार करना पड़ा है । किसान की सुविधा के लिए भुगतान की प्रक्रिया में संशोधन किया गया है । नवीन व्यवस्था पंजीयन के समय किसान को बैंक खाता नंबर और IFSC कोड प्रविष्ट कराने की अनिवार्यता समाप्त कर दी गई है ।

यह भी पढ़ें – SIP स्कीम से किसान बन सकते है लखपति, जानिए क्या है Systematic Investment Plan with prove

अब किसानों को उपार्जित फसल का भुगतान उनके आधार नंबर से लिंक खाते में सीधे प्राप्त होगा , इससे बैंक खाता नंबर और IFSC कोड की प्रविष्टि में त्रुटि से भुगतान में होने वाली असुविधा समाप्त हो जाएगी । 3.3 नवीन पंजीयन व्यवस्था में बेहतर सेवा प्राप्त करने के लिए यह जरूरी होगा कि किसान अपने आधार नंबर से बैंक खाता और मोबाईल नंबर को लिंक कराकर उसे अपडेट रखे ।

समय अवधि

कार्य start datelast date
पंजीयन 05.02.202205.03.2022
sms स्लॉट का चयन 07.03.202207.03.2022
उपार्जन अवधि 25.03.202215.05.2022

किसान भाई आपसे निवेदन है की जानकारी को अधिक से अधिक शेयर करें . ताज़ा किसान सम्बन्धी जानकारी के लिए हमारे ग्रुप से जुड़ें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

close